पुलिस टीम पर हमला, डीएसपी समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद, STF ने संभाला मोर्चा, मुख्यमंत्री ने डीजीपी को किया तलब

कानपुर : बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला डीएसपी समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद

यूपी- कानपुर एनकाउंटर में STF ने संभाला मोर्चा, एनकाउंटर में विकास दुबे के दो रिश्तेदार ढेर

पुलिस विकास दुबे नाम के अपराधी को पकड़ने गई थी। बदमाशों ने घर की छत से घात लगाकर पुलिस टीम पर हमला किया. अपराधी पुलिस के हथियार लूट कर भी ले गए। सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में डीजीपी को भी तलब किया है और सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उत्तर प्रदेश के पुलिस पुलिस महानिदेशक एचसी अवस्थी ने कहा कि हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के खिलाफ करीब 60 मुकदमे दर्ज हैं. इसके अलावा आईपीसी की धारा 307 (हत्या का प्रयास) के तहत मामला दर्ज था। पुलिस इसी सिलसिले में उसे पकड़ने के लिए गई थी. बदमाशों ने मार्ग पर जेसीबी रख दी थी, जिससे मार्ग बाधित हो गया था. पुलिस टीम के वहां रुकते ही उन्होंने ऊंचाई से उनपर फायरिंग शुरू कर दी, इस एनकाउंटर में जो 8 पुलिसकर्मी शहीद हुए हैं उनमें सीओ देवेंद्र कुमार मिश्रा, एसओ महेश यादव, चौकी इंचार्ज अनूप कुमार, सब-इंस्पेक्टर नेबुलाल, कांस्टेबल सुल्तान सिंह, राहुल, जितेंद्र और बबलू शामिल हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी और उनके परिजनों के लिए संवेदना व्यक्त की. मुख्यमंत्री ने डीजीपी एचसी अवस्थी को अपराधियों के खिलाफ कड़ा ऐक्शन लेने के निर्देश दिए हैं, उन्होंने इस घटना की रिपोर्ट भी मांगी है। यूपी के विकासदुबे एंकौटर में ८ पुलिस वालों की हत्या की जिम्मेदारी कहीं न कहीं न्याय व्यवस्था पर भी जाती है, जिसपर ५३ केस चल रहे थे उसे जमानत कैसे मिल जाती है।