विज्ञान सम्मत अहिंसात्मक शाश्वत सत्य के सामाजिक अनुशासन को ही धर्म कहा गया है

अधर्मी और विधर्मी से सदैव सचेत और सावधान रहना चाहिए। शास्त्रों के अनुकूल चलें, मन से तो बंदर चलता है। वेद में लिखा है-“धर्मं चर,”

Read more

सुभाष चंद्र बोस किसके लिए थे खतरा?

जिन लोगों ने देश की स्वतन्त्रता के लिए अपना सर्वस्व यहाँ तक कि प्राण भी न्यौछावर किये लोग उनके विषय में, बहुत कम जानते हैं।

Read more